राजातालाब में पूर्वांचल किसान यूनियन के बैनर तले मनाई संत शिरोमणि रविदास जयंती

रिपोर्टर :- सन्तोष कुमार सिंह

वाराणसी :-(रोहनियां) राजातालाब स्थित सम्पूर्णा वाटिका में बुधवार को पूर्वांचल किसान यूनियन की ओर से संत रविदास जी की जयंती मनाई गई। जयंती का शुभारंभ वीरेन्द्र यादव ने गुरू रविदास के जीवन वृत्त चित्र पर प्रकाश डालकर किया।

इस मौके पर उपस्थितजन को सम्बोधित करते हुए मुख्यअतिथि वीरेन्द्र यादव ने कहा कि संत रैदास जी का मानना था कि (मन चंगा तो कठौती में गंगा) मतलब शरीर को आत्मा से पवित्र होने की जरुरत है ना कि किसी पवित्र नदी में नहाने से, अगर हमारी आत्मा और ह्दय शुद्ध है तो हम पूरी तरह से पवित्र है चाहे हम घर में ही क्यों न नहाये।

यूनियन के संयोजक योगीराज सिंह पटेल ने कहा कि रविदास के पिता मल साम्राज्य के राजा नगर के सरपंच थे और खुद जूतों का व्यापार और उसकी मरम्मत का कार्य करते थे। अपने बचपन से ही रविदास बेहद बहादुर और ईश्वर के बहुत बड़े भक्त थे लेकिन बाद में उन्हें उच्च जाति के द्वारा उत्पन्न भेदभाव की वजह से बहुत संघर्ष करना पड़ा, जिसका उन्होंने सामना किया और अपने लेखन के द्वारा रविदास ने लोगों को जीवन के इस तथ्य से अवगत करवाया।

सुरेश राठौर ने कहा कि गुरू रविदास जी ने हमेशा लोगों को सिखाया कि अपने पड़ोसियों को बिना भेद-भाव के प्यार करो। पूरी दुनिया में भाईचारा और शांति की स्थापना के साथ ही उनके अनुयायिओ को दी गयी महान शिक्षा को याद करने के लिये भी संत रविदास का जन्म दिवस मनाया जाता है। इसके बाद संपूर्णा वाटिका में खाद्य प्रसाद लंगर भी लगाया। संचालन सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार गुप्ता ने किया।

इस अवसर पर वीरेंद्र यादव योगीराज सिंह पटेल सुरेश राठौर राजकुमार गुप्ता विवेक पटेल संतलाल विश्वकर्मा बबलू पटेल गणेश शर्मा संतोष कुमार राहुल मोहित अजय प्रदुम रंजीत विवेक भानू आदि लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *